एनसीइआरटी की किताब में बीजेपी पार्टी की 2014 की जीत को बताया ‘हिन्दू राष्ट्रवाद की जीत’

एनसीइआरटी की 12वीं की नई पाठ्य पुस्तक के अनुसार साल 2014 के आम चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी की जीत ऐतिहासिक थी और इसे हिन्दू राष्ट्रवाद की जीत बताया गया है।
एनसीइआरटी की एक नई किताब मेंआजादी के बाद भारत में राजनीति, का जिक्र किया गया है। यही नहीं, इसमें भाजपा को मुस्लिम महिलाओं का रहनुमा बताया गया है।
एक अंग्रेजी अख़बार के अनुसार इस किताब के एक पाठ मेंसांप्रदायिकता, धर्मनिरपेक्षता, लोकतंत्रजिसके माध्यम से यह समझाने की कोशिश की गई है कि कैसे भाजपा ने 1986 के बाद से अपने विचारधारा के केंद्र में हिंदु राष्ट्रवाद को रखा है।
हिंदुत्व का शाब्दिक अर्थ हिंदुत्व है और भारतीय मूल के आधार के रूप में इसके उत्प्रेरक वी डी सावरकर द्वारा परिभाषित किया गया।
हिंदुत्व को परिभाषित करने के लिए वी डी सावरकर के विचारों को शामिल किया गया है जिसके अनुसार सभी भारतीयों को भारत को एक पवित्र पितृभूमि के रूप में स्वीकार करना होगा। किताब में भाजपा को मुस्लिम महिलाओ का रहनुमा बताया गया है।
इसमें यह भी लिख गया है कि हिंदुत्व में विश्वास करने वालों का मानना है कि एक शक्तिशाली राष्ट्र का निर्माण मजबूत और संयुक्त राष्ट्रीय संस्कृति के आधार पर ही किया जा सकता है।
वहीं राजस्थान स्टेट बोर्ड के 8वीं कक्षा के संदर्भ पुस्तक में स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक को आतंकवाद का जनक कहा गया है।
यह पुस्तक राजस्थान स्टेट बोर्ड से मान्यता प्राप्त अंग्रेजी माध्यम के निजी स्कूलों में अभी भी पढ़ाई जा रही है।