एक ही बारिश में गिर गया था चित्रकूट जिले के वाल्मीकि नदी का पुल

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव खरौंध, मजरा गढ़ीखुर्द मा बाल्मीकि पुल बना रहै।या पुल दस साल पहिले 2006 मा बनावा गा रहै। मड़इन का कहब हवै कि पुल बने के तीन-चार महीना बाद एक दरकी पानी बरसे मा टूट गा हवै।काहे से पुल बनावें मा ख़राब सामान (मटेरियल) लगावा गा रहै। मड़ई यहै रास्ता से ऐंचवारा गांव जात हवै। बच्चा भी टूट पुल से ऐंचवारा गांव पढ़े जात हवै जेहिसे उंई पुल मा गिर जात हवै तौ चोंट लाग जात हवै अउर कापी किताब भीग जात हवै।यहिके खातिर कइयौ दरकी प्रशासन विधायक अउर सांसद से कहे हन पै कुछौ सुनवाई नहीं होत आय।
सुमित्रा बताइस कि दस साल से पुल टूट पड़ा हवै। बरसात मा जबै बाढ़ आवत हवै तौ बच्चन का घूम के दूसर रास्ता से स्कूल जाए का पड़त हवै। रजनी का कहब हवै कि स्कूल जात दरकी जबै निकलित हवै तबै पुल मा गिर जइत हवै। ओमप्रकाश बताइस कि जबै बना रहै तौ दुई तीन महीना मा टूट गा हवै गांव के सबै मड़ई हिंया से निकलत हवै। गौलाल का कहब हवै कि हिंया पानी का स्रोत हवै कच्चा मसाला लगा के पुल बना रहै। पुल बनावें मा बीस एक का मसाला  लगावा गा रहै। यहै कारन पुल टूट गा हवै।
विधायक प्रतिनिधि शक्ति सिंह का कहब है कि कम मानक के हिसाब से पुल बना रहै यहै कारन टूट गा रहै। विधायक निधि से पन्द्रह से बीस लाख रुपिया पास कराके पुल बनावा जई जेहिसे गांव के समस्या ख़त्म होइ जाए।
रिपोर्टर-नाजनी रिजवी 

Published on Dec 1, 2017