एक ही बंदूक से की गई कलबुर्गी और गौरी लंकेश की हत्या, हुआ खुलासा

फोटो साभार: फेसबुक/गौरी

कर्नाटक पुलिस की एसआईटी द्वारा कोर्ट में पेश की गई फोरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार, दोनों की हत्या में एक ही बंदूक का इस्तेमाल किया गया है। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि कन्नड़ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या और प्रसिद्ध लेखक कलबुर्गी की हत्या के तार जुड़ सकते हैं।
पुलिस के सूत्रों अनुसार, कलबुर्गी और गौरी लंकेश को एक ही समूह द्वारा मारा गया है।
बता दें कि कलबुर्गी 30 अगस्त 2015 को धारवाद और गौरी लंकेश को 5 सितंबर 2017 को बेंगलुरू में मारा गया था। फोरेंसिक रिपोर्ट में लंकेश मामले में आरोपी 5 लोगों में से एक के टी नवीन कुमार के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया गया है।
इसमें कहा गया है कि दोनों हत्याओं में एक ही देश की बनी हुई बंदूक है जो 7.65 mm की पिस्तौल कारतूस का इस्तेमाल किया गया है। लंकेश की हत्या में पुलिस को उनके शरीर से 3 गोलियों मिली थी व एक गोली लगने से वह बच गई थी और इस्तेमाल की गई बंदूक में 4 गोलियां ही डाली जाती है। जबकि कलबुर्गी केस में दो गोलियां लगी थी और दो बंदूक में ही रह गई थी।