एक साल से नाय मिलत चीनी

imagesजिला फैजाबाद, ब्लाक मया, गांव रामापुर। हिंआ पै एक साल से चीनी नाय मिलत बाय। यहि कारण जनता परेषान बाय। आबादी तीन हजार बाय। जबकि तीन किलो चीनी मिलै का चाही। लगभग तीन सौ राषन कार्ड धारक अहैं।
रामावती, उमाषंकर, अमृता, सुमन बताइन कि हमरे हिंआ पहिले पांच किलौ चीनी जब लिया तबै राषन दियत रहिन जे चीनी न लियै वका राषन नाय दियत रहिन। विनीता, दुखीराम बताइन कि साल भर से एकौ दाना चीनी नाय मिलत बाय। अगर मांगा जाथै तौ कोटेदार कहाथिन सबके वियाहे गउने मा चला गै बाय। इहै कहिके टार दियाथिन। का हमेषा वियाहै गवन रहा थै। हमरे सब बाजार से बयालिस रुपया किलौ चीनी खरीद के लाई थी तौ कहूं चाय नसीब हुआथै। अब राषन दियत बाटिन लकिन चीनी कै नाम नाय लियतिन। प्रधान से कहा जाथै तौ वै झांकै तक नाय अउते।
प्रधान प्रेमलता सिंह बताइन कि हम कोटेदार से कहब कि वै षादी वियाहे वाले का थोरै दियै अउर जनता का कुछ न कुछ चीनी दिया करैं। कोटेदार तुलसी बताइन कि हम सबका पांच किलो चीनी दियत रहेन पर जबसे सब गांव कै मनई अपने हिंआ षादी वियाह मा चालिस पचास किलौ चानी कै मांग करै लागिन तबसे हम नाय दै पाइत।
बी.डी.ओ. महेन्द्र देव बताइन कि आबादी के हिसाब से दुई किलो चीनी मिलै का चाही।