एक साल भी नहीं मिली मजदूरी महोबा जिले के सतर्पुरवा गाँव के लोगों को

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव सतर्पुरवा इते के आदमियन को आरोप हे के सड़क को काम मनरेगा के तहत करो तो लेकिन आज एक साल होबे के बाद भी रुपइया नइ मिलो। आदमी ठेकेदार से रुपइया मांग तो रए लेकिन ठेकेदार रुपइया आ जेहे की बात कह के टार देत।
गिरिजा ने बताई के अबे हमे मजदूरी के रुपइया नइ मिले हमने चालीस दिन काम करो नौ सौ रुपइया हो रए ते हमाय। जोई सोचत रत के एसे डरे डरे तो काम करो के अपनों इलाज करा लेहे लेकिन रुपईया ही नइ मिले।
शिववती ने बताई के हम मजूरी कर रए मोबाइल दुका लओ तो उन तो कह रहे ते के तुमने हमे चोरी लगा दई अब तुमे रुपइया नइ मिल हे हम तुम्हे देख लेहे।
तुलसा रानी ने बताई के सब काम करो हमने गट्टी मसालों डामर जो सामने आ गओ सो सब करो। अवधरानी ने बताई के हमने अबे कितऊ दरखास नइ दई कह रए ते के आ जेहे रुक जाओ जई आशा में साल हो गई। कर्जा वाले हे सो बे रोज आ रए अब बाहार जेहे मजूरी कर हे तब कर्जा चुका पेहे।
जयप्रकाश अभियंता सहायक ने बताई के जाके संबंध में ठेकेदार से बात करी तो ठेकेदार ने बताई के जो लेवर लगाई ती बाको भुगतान कर दओ। लेकिन मनरेगा से जो मट्टी को काम भओ तो उनमे से कछू आदमियन के खाते गलत हे जासे नइ आय खाते चेक कराए जा रए बाके बाद डारे जेहे सबके रुपइया। जाको संचालन सी डी ओ संचालन से होत।

रिपोर्टर- सरोज सैनी

20/04/2017 को प्रकाशित