एक साल अउर करैं का परी इंतजार

20141212_101417जिला चित्रकूट। कर्वी शहर मा उत्तर प्रदेेश राज्य सेतु निगम लिमिटेड कइती से पिछले एक साल से बनत ओवर ब्रिज आज तक नहीं बन पावा। आवैं जाये वाले मड़ई अउर दुकानदारन का बहुतै समस्या का सामना करैं का परत हवै।
पहाड़ी कस्बा के मेवालाल, लोहदा गांव के राजकुमारी का कहब हवै कि भले ही पुल बनैं के बाद नींक होइ जाये, पै अबै बहुतै परेशानी हवै। हमैं रोडवेज बस अड्डा जाये का हवै तौ गंगा जी रोड तीन किलोमीटर घूम के जाय का पड़त हवै। पैदल चलैं वाले कइयौ मड़ई बताइन कि पुल मा काम चलत हवै तौ पुल तरे निकरैं का डेर लागत हवै। रेलगाड़ी के पटरी भी हवै तौ पटरी पार करैं मा भी जान का खतरा बना रहत हवै। अब तौ रिक्शा भी नहीं चलत आय। अगर जल्दी जायें का होय तौ पैदल ही जायें का परत है। जबैकि रिक्शा वाले कहिन कि अब उनकर कमाई नहीं होत आय। काहे से स्टेशन अउर बस अड्डा आवैं वाली सवारी नहीं मिलत आय।
पुल के तरे बीज के दुकान करैं वाले हीरालाल का कहब हवै कि मोरे दुकान के बिक्री नहीं होत आय। डेरन के मारे ग्राहक नहीं आवत आय। जबै से पुल बनत हवै। तबै से मोहिका बहुतै घाटा सहैं का परत हवै।
उत्तर प्रदेश सेतु निगम लिमिटेड के प्रबन्धक प्रभाशंकर कहिन कि इकट्ठा बजट नहीं आवत आये कि जल्दी काम पूर कई लीन जाये। पूरा पुल बनैं मा लगभग एक साल अउर लाग जई।