एक-बच्चा नीति को खत्म कर परिवार बढ़ाने की अपील

फोटो साभार : डैनियल केस
फोटो साभार : डैनियल केस

बीजिंग। भारत की जनसंख्या में सबसे बड़ा हिस्सा युवाओं का है तो चीन में आबादी का बड़ा हिस्सा बुजुर्गों का है। युवा आबादी लगातार कम हो रही है।
दरअसल अब तक चीन में सख्ती के साथ एक बच्चा पैदा करने की नीति का पालन करवाया जाता रहा है। ऐसा वहां जनसंख्या पर लगाम लगाए रखने के लिए किया गया था। कुछ महीनों पहले खबर आई थी कि इस नीति में ढील दी गई है। लेकिन अब तो चीन की सरकार ने लोगों से दो बच्चा पैदा करने की अपील की है। चीन का सबसे बड़ा शहर है शंघाई। यहां की तीस प्रतिशत आबादी अब काम करने के लायक नहीं है। यानी यह सभी बुजुर्ग हैं। ऐसे में उद्योगों और विभागों में श्रमिकों को लेकर संकट की स्थिति है। मज़ेदार बात यह है कि अभी तक एक बच्चा पैदा करने के नियम का सख़्ती से पालन करवाने वाली सरकार अब कह रही है कि दो बच्चों का परिवार स्थिर रहता है। सामाजिक विकास होता है।

साल 2013 में चीन ने युवा आबादी के संकट से निपटने के लिए एक बच्चा नीति पर ढीलाई दी थी। लोगों से दूसरा बच्चा पैदा करने के लिए आवेदन मांगे गए थे। सरकार को उम्मीद थी कि कम से कम बीस लाख आवेदन आएंगे। लेकिन केवल दस लाख आवेदन आए।