एक परिवार काटत बदहाल जिंदगी

b DSCN6870 (1)जिला बांदा, ब्लाक, बिसण्डा, गांव लौली टीकामऊ। हंया के नील सिंह का आरोप है कि आम आदमी बीमा योजना के तहत काम न मिलैं से वहिकर परिवार तंगहाली से जूझत है। 12 अक्टूबर का डी.एम. का दरखास दिहिस है।
नील सिंह का कहब है कि एल.आई.सी. के कइत आम आदमी बीमा योजना का एक प्रमाणपत्र बना है। जेहिमा नियम है कि मोहिका ब्लाक स्तर से हमेशा काम मिलैं का चाही। 2013 से काम नहीं मिला। मोर घर मा खाय तक का एक दाना निहाय। मोर छोट वाला बच्चा अभय उम्र 8 महीना कुपोषण बीमारी से पीडित है। 2 अक्टूबर 2015 का 120 ग्राम खून दीन हौं। तबै वहिके जान बची है। नील सिंह के औरत दुर्गा का कहब है कि चार बच्चन समेत नियाव पावैं खातिर बांदा के अशोक लाट तरे 7 से 9 अक्टूबर तक अनशन कीन। 8 अक्टूबर का ड़ी.एम. का दरखास दें गईवं तौ ड़ी.एम. के न रहैं मा ए.ड़ी.एम. का दरखास दीनेंव। ए.ड़ी.एम. फटकार लगावत कहिस कि हेंया से भाग जाव। हेंया रोजगार नहीं दीन जात आय। यतने बच्चा का मोरे माथे पैदा कीने हा। मैं हेंया नियाव लें का आई हौं अगर नियाव लें आई हौं। अगर हेंया नियाव न मिली तौ घर गिरवीं धइके लखनऊ दिल्ली जइहौ।
ए.ड़ी.एम. ड़ी.एस. पाण्डेय का कहब है कि वहिके कुपोषित बच्चा के इलाज खातिर दरखास मा ही आदेश लिख दीन है। बाकी वहिके रोजगार के भी कारवाही कीन जई।