एक छोटी फुटबॉल टीम, खिताब जीतकर मिसाल बनी

साभार: एनबीटी

आइजोल एफसी ने 1 मई को शिलॉन्ग लॉजोंग एफसी को 1-1 की बराबरी पर रोकते हुए इस वर्ष का आई-लीग फुटबॉल खिताब हासिल कर लिया।
आइजोल इस खिताब को जीतने वाला नॉर्थ-ईस्ट का पहला क्लब बना और उसने इतिहास रच दिया।
आइजोल को यह खिताब जीतने के लिए मैच को मात्र ड्रॉ करवाना था। एसेर पैरेक डिपांडा ने हैडर के जरिए गोल करते हुए शिलॉन्ग को नौवें मिनट में 1-0 की बढ़त दिलाई। आइजोल के लिए बराबरी का गोल 67वें मिनट में विलियन लालरूनफेला ने दागा।
आइजोल 37 अंकों के साथ आई-लीग तालिका में पहले स्थान पर रहा। मोहन बगान की टीम 36 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रही। आइजोल ने अपने दूसरे ही प्रयास में खिताब जीतने में सफलता हासिल की।
सुर्ख़ियों से दूर रहने वाली इस छोटी टीम ने इस जीत से ये साबित कर दिखाया कि अगर सपने और हौसला बुलंद हो तो सफलता हासिल हो सकती है।