एक और किसान गोष्ठी हुई आयोजित, इस बार महोबा जिले में

जिला महोबा, ब्लाक जैतपुर 15 मई को सरकार ने एक किसान निवेश मेला लगाओ बा मेला को मतलब हतो के किसानन को मिटटी, पशु पालन अन्य तकनिकी और जल संरक्षण के बारे में जानकारी देबो।
अरविन्द्र मोहन मिश्रा उप कृषि निदेशक ने बताई के किसान निवेश मेला के माध्यम से हम नवीन तकनिकी की जानकारी उपलब्ध करात। खेत तालाब योजना हमाय विभाग द्वारा संचालित करी जा रई बाके लाने अलग अलग अनुदान भी हे जो छोटे खेत तालाब हे उन पे बामुन हजार पांच सौ रुपइया को अनुदान हे। उन्हें उनके खाते के अनुसार करो जात और जो बड़े खेत तालाब हे उन्हें एक लाख चौदह हजार को अनुदान हे।
भजन लाल किसान ने बताई के हमाओ कुआ अध खुदो डरो कोऊ सुनत ही नइया। खेती की मट्टी दई ती सो न बाको कछू पतों हे।
डॉक्टर मुकेश चन्द्र कृषि विज्ञान केंद्र अधयक्ष ने बताई के अबे जो समय चल रओ बामे गहरी जुताई करे। जब पानी बरसे तब पानी को ज्यादा सरक्षण हुए संगे मट्टी को बह बो भी रुक जेहे।
जई के संगे संगे मट्टी परिक्षण भी बोहतई जरुरी हे जी से मट्टी के आधार पे खाद और बीज को इस्तेमाल करो जा सके। और पशु पालन, मुर्गी पालन को भी लाभ उठाये। आज जो परिस्थिति हे बे बदल हे और खुशहाली आहे।
इन सब सूचनाओं को पालन करबो आसान नइया। सरकार खुद ही लौट के जांच नइ करत और नुकसान किसानन को हो जात।

रिपोर्टर- श्यामकली

22/05/2017 को प्रकाशित