उन्नाव कांड में सीबीआई ने दर्ज की चौथी एफआइआर

उन्नाव कांड की जांच कर रही सीबीआई ने मामले में चौथी एफआइआर दर्ज की है।
सूत्रों का कहना है कि मामले में निलंबित किए गए माखी थाने के पुलिसकर्मियों ने आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा नामजद तीनों आरोपितों की पैरवी करने की बात स्वीकारी है।
उन्नाव कांड में सीबीआई आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व शशि सिंह को दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं में दर्ज केस में गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। सीबीआई तेजी से अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है। सीबीआई ने इसके अलावा पीड़ित किशोरी के पिता की हत्या व पीड़ित किशोरी पक्ष के खिलाफ मारपीट के मुकदमों में केस दर्ज किए हैं।
पुलिस ने आरोपित शुभम सिंह, नरेश तिवारी व बृजेश यादव को गिरफ्तार किया था और एक अगस्त, 2018 को तीनों के खिलाफ कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल किया था। पीड़ित किशोरी को औरैया निवासी आरोपित बृजेश के घर से बरामद किया गया था। मामले में आरोपित शशि सिंह सामूहिक दुष्कर्म केस के आरोपित शुभम सिंह की मां है।
सीबीआई ने इस प्रकरण में 20 जून को माखी थाने में पीड़िता को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने की एफआइआर पर अपना चौथा केस दर्ज किया है। पीड़ित किशोरी ने विधायक पर चार जून, 2017 को दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। गौरतलब है कि पीड़ित किशोरी 11 जून, 2017 को लापता हो गई थी। माखी थाने में 20 जून को किशोरी को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कराया गया था। किशोरी के कोर्ट में बयान दर्ज कराने के बाद पुलिस ने मुकदमे में सामूहिक दुष्कर्म व पाक्सो एक्ट की बढ़ोतरी की थी।