उत्तर-पूर्वी भारत में ठंड का बढ़ता प्रकोप, कड़ाके की ठंड ले रही है जान

फोटो साभार: सुनीता देवी

उत्तरी और पूर्वी भारत में ठंड का आतंक बढ़ता जा रहा है। पूरा उत्तर भारत कड़ाके की ठंड के चलते केवल उत्तर प्रदेश में 54 की जान चली गई हैं। यह मौतें 2 जनवरी देर रात और 3 जनवरी को हुईं।
राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा समेत समूचे उत्तरी और पूर्वी भारत में घना कोहरा छाया हुआ है। यही नहीं, राजस्थान के माउंट आबू में पारा शून्य के नीचे चला गया है।
हरियाणा में भी ठंड से एक व्यक्ति की मौत हो गई। सर्द हवाओं के बीच कोहरा भी लोगों की परेशानी का सबब बना हुआ है। कोहरे का सीधा असर रेल और हवाई यातायात पर पड़ा है।
मौसम विभाग के अनुसार, सात जनवरी तक कोहरे और गलन भरी सर्दी से राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है। अगले दोतीन दिनों तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में सर्दी और बढ़ेगी। हिमाचल के केलंग में अधिकतम तापमान माइनस 0.2 तो न्यूनतम माइनस 10.6 डिग्री दर्ज किया गया है।
यूपी के कन्नौज में तीन, बांदा में एक, उरई में तीन, हमीरपुर और महोबा में ठंड से तीनतीन लोगों की मौत हो गई। बाराबंकी में कड़ाके की ठंड में दो लोगों की मौत हो गई। वहीं 3 जनवरी को बलिया में दो, जौनपुर में दो की मौत हुई। आजमगढ़ में एक, वाराणसी में तीन, कानपुर में एक की कंपकंपाती ठंड ने जान ले ली।
उत्तर प्रदेश का सबसे ठंडा जिला सोनभद्र रहा, जहां न्यूनतम पारा 5.4 डिग्री दर्ज किया गया। ठंड के चलते इलाहाबाद, प्रतापगढ़ कौशांबी जिले में भी नौ लोगों की मौत हो गई। लालगंज में 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला शीतलहर बर्दाश्त नहीं कर पाईं। कौशांबी में होमगार्ड युवती समेत छह लोगों की मौत हो गई। इलाहाबाद में एक की मौत की सूचना है। बदायूं में कड़ाके की सर्दी से दो बच्चों की मौत हुई। रामपुर में भी सर्दी से एक की मौत हो गई। इसके अलावा कुछ और इलाकों में भी भीषण ठंड की चपेट में आने से दस अन्य की मौत हुई है।
श्रीनगर में अधिकतम तापमान 11.1 डिग्री न्यूनतम माइनस 3.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। पहलगाम में न्यूनतम तापमान माइनस 6.1, गुलमर्ग में माइनस 6.8 लेह में न्यूनतम तापमान माइनस 14.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।
मौसम विभाग के अनुसार, अगले दोतीन दिनों तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में सर्दी और बढ़ेगी।