इ हई हमर जिन्दगी

mahila - bdp tariyaniजिला शिवहर, प्रखण्ड तरियानी में प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी कुमारी कुसुम अक्टूबर 2013 से कार्यरत छथिन। जिनकर उमर लगभग साठ साल हई।
इ कहलथिन कि छपरा जिला, नगरा प्रखण्ड, बन्नी गांव के रहेवाला छी। हमर बचपन से ही शिक्षा पर ज्यादा ध्यान रहे, खेल-कुद में बहुत कम मन लागे। जब घर से बाहर पढ़े जाई त गांव के बहुत लोग कुछ-कुछ कहईत रहथिन। लोग सब कहे कि अतेक बड़का घर के बेटी बाहर निकल के पढ़े जतई। लेकिन सब लोग के बात पर ध्यान न देली अउर हम अपन पढ़ाई कईली। हमरा पढाई में हमर माय के हाथ रहे। ओही से हम बाहर निकलली अउर इहां तक पहूंच पईली। जब हम दसवीं पास कइली त 1975 में हमर शादी विरेन्द्र कुमार मिश्रा के साथ भेलक। ओकरा बाद से पढ़ाई में हमर पति साथ देलथिन। तबहिए हम अतेक आगे बढ़ली। हमर पति ही इन्टर अउर बी.ए. करलथिन। 1982 में राजकीय बुनीयादी विद्यालय के शिक्षिका भेली।
प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के पद पर 2014 में शिवहर प्रखण्ड में काम मिलल अभि 01 अक्टूबर 2013 से तरियानी प्रखण्ड में छी। जुलाई में हम रिटायर भी होय वाला छी।