इस ठंडी में आपको 500 रुपये में 5 स्वेटर खरीदने हो तो आइये बांदा के मंगल बाजार में

बांदा जिला मा हर मंगलवार का मंगल बाजार लागत है। मंगल बाजार के खासियत है कि हेंया जरूरत का हर सामान कम दाम मा मिलत है। गरीबन का सहारा आय मंगल बाजार।
कैलाश का कहब है कि पैंट शर्ट खरीदत हौं काहे से हेंया कम दाम मा मिलत है।
फुटपाथ विकेर्ता के अध्यक्ष मुन्ना खान का कहब है कि फुटपाथ मा कपड़ा न बिके तौ भारत के आधे गरीब मड़ई ठंडी मा मर जइहैं। टेलर पैंट शर्ट के चार-पांच सौ सिलाई लेत है हम सौ डेढ़ सौ मा पैंट शर्ट दइ देइत है। दुकानदार नन्दू का कहब है कि मंगल के बाजार मा सबै अमीर गरीब आवत हैं। मेहरिया बड़े घरन से स्टील के बर्तन बेंचके कपड़ा लावत हैं फेर वा कपड़ा का हेंया बेंच जात हैं तौ गरीब मड़ई खरीद के पहिनत हैं। शो रूम मा जउन कपड़ा पांच सौ का मिलत है वा कपड़ा हेंया दाई सौ का मिल जात है। दुकानदार अब्दुल का कहब है कि झांसी, जबलपुर अउर ग्वालियर से हम कपड़ा खरीद के लइत है। इं पहिने कपड़ा रहत है। हिना बताइस कि बाजार मा मंहगे कपड़ा मिलत है हेंया सस्ते कपड़ा मिलत है।

रिपोर्टर-मीरा देवी 

Uploaded on Dec 27, 2017