इतिहास रचने से चूकीं साइना

(फोटो साभार: IANS)
(फोटो साभार: IANS)

जकार्ता, इंडोनेशिया। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल का विश्व चैंपियन बनने का सपना टूट गया है। 16 अगस्त को खेले गए फाइनल मुकाबले में साइना को स्पेन की कैरोलिना मारिन के हाथों हार का सामना करना पड़ा। साइना नेहवाल को उनसठ मिनट तक चले मुकाबले में दुनिया की पहले नम्बर की खिलाड़ी कैरोलिना मारिन ने हराया।

विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप का फाइलन स्पेन की कैरोलिना मारिन और भारत की साइना नेहवाल के बीच हुआ। दोनों के बीच टक्कर का मैच चला। पहला गेम मारिन जीती दूसरे गेम में साइना ने जोरदार वापसी की लेकिन स्पेन की खिलाड़ी कैरोलिना मारिन दूसरे गेम में भी उन्हें हरा दिया। मारिन के साथ साइना ने चार मैच खेले है जिनमें से तीन मैच जीती थी। और एक मैच में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

साइना का अब तक का प्रदर्शन
सुपर  सीरीज़ और ग्रां प्रि जैसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में साइना नेहवाल अब तक कुल सोलह खिताब अपने नाम कर चुकी हैं । पच्चीस साल की साइना नेहवाल ने छठवीं कोशिश में यह जीत दर्ज कर पाई है। इससे पहले वह कभी भी क्वार्टर फाइनल से आगे नहीं बढ़ पाई थी। इस बार ना सिर्फ साइना ने अपने खिताबों की संख्या बढ़ाई बल्कि भारत का रंग भी बदल दिया। अब तक भारत के पास इस टूर्नामेंट के केवल चार  कांस्य  पदक ही थे अब एक रजत भी हो गया। इस प्रतियोगिता को भले ही साइना नेहवाल हार गई हों। पर इस मैच के बाद साइना विश्व में अब बैडमिंटन में पहलें स्थान पर है।