इतिहास के पन्नो के कोने में से ढूँढ निकाला हमने ललितपुर का सोरई किला

जिला ललितपुर|इतिहास के पन्नों के कोने से ढूढ़ निकाला है सोरई का किला|चार सौ साल पुराने इस किले का राजा बकत बाली शाह ने बनवाया था|झाँसी जिले का यह भाग सबसे पिछले इलाके में है अठारवीं सदी में अंग्रेजी ने यहां अपना हेड आफिस बनाया था इस किले में राजाओं की मीटिंग होती थी यहां के तालाब और गांव सोरई नाम प्रसिद्ध है सोरई के किला में बहुत राज दबे है प्रशासन और पुरात्व विभाग के लिए यह किला भूली बिसरी याद बन कर रह गया है क्यों कि किले की  देख भाल न होने के कारण यह खडंहर बन चुका है मुन्ना लाल का कहना है कि इस किले में बहुत गन्दगी है किले कि सुरक्षा के लिए कोई व्यवस्था नहीं है|
परमचन्द्र जैन का कहना है कि यह किला तो अब उजड़ गया है बाग लगा दें और मरम्मत करवा दें तब तो देखने लायक हो  जायेगा किले में एक चौकीदार बस रहता है|सतीश कुमार ने बताया कि पहले मेहमान आते थे तो किला देखने जाते थे अब तो खंडहर बन गया है अब कोई देखने नहीं जाता है|

बाईलाइन-राजकुमारी

22/09/2017 को प्रकाशित