इंटरनेट सुरक्षा शोधार्थी का दावा ‘नमो ऐप से तीसरी पार्टी को साँझा की जा रही है निजी जानकारी’

साभार: नमो ऐप ऑफिसियल साईट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमो ऐप पर इस्तेमाल करने वालों के निजी डाटा को अवैध रूप से एक अमेरिकी कंपनी से साझा करने का आरोप लगा है।
एक अंग्रेजी अख़बार के अनुसार, फ्रेंच, सुरक्षा हेतु शोध करने वाले इलियट एल्डरसन ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी एंड्रॉयड ऐप (नमो ऐप) प्रोफाइल बनाने पर ली गई जानकारी एक अमेरिकी तीसरी पार्टी कंपनी से शेयर कर रहा है।
इलियट एल्डरसन ने 23 मार्च की रात ट्विटर पर कई ट्वीट करते हुए लिखा कि जब कोई इस्तेमाल करने वाला नरेंद्र मोदी ऐप पर प्रोफाइल बनाता है, तब उसके फ़ोन की जानकारी के साथ उसकी निजी जानकारी एक थर्ड पार्टी डोमेन(वेबसाइट) के साथ शेयर की जाती है, जो कि एक अमेरिकी कंपनी से संबद्ध है।
उनके अनुसार, साझा की जा रही फोन की जानकारी में ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर, नेटवर्क टाइप, कैरियर जैसी जानकारियां आती हैं।  वहीं कंपनी को दी जा रही निजी जानकारी में इस्तेमाल करने वाले की ईमेल आईडी, फोटो, नाम, जेंडर आदि की जानकारी है, जो बिना यूजर्स की सहमति के इस कंपनी से साझा की जा रही है।