आ गया शुक्रवार? चलो, मूवी देखने चलें

सी आर डी
निर्देशक: क्रांति कन्नडे
कलाकार: मृन्मयी गोडबोले, इशा केसकर, अभय महाजन, सौरभ सारस्वत
इस फिल्म के निर्देशक के तो नाम में ही क्रांति है! पुणे के पुरुषोत्तम नाटक-घर के एक नाट्य प्रतियोगिता से प्रेरित ये मूवी आपको नाटकों के गहरे सच के अंदर ले जाती है। महत्वाकांक्षाओ की दुनिया किस तरह कठोर भी हो सकती है, इसे दर्शाती है, इस फिल्म की कहानी। और कॉलेज के बीच होने वालों प्रतियोगिताओं में किस तरह छात्र और छात्राए अपना बहुत कुछ खो देते हैं।
एक तरफ रचनात्मकता और अपनी पेचाहान की खोज में युवा पीढ़ी, और दूसरी तरफ अधिकारीयों और समाज के दबाव, इसी तनाव को एक खूबसूरत पेशकश में ज़ाहिर किया है सी आर डी ने।
ये फिल्म अंतर-राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान बटोरकर, अब यहाँ रिलीज़ हो गई है। तो देखने ज़रुर जाइएगा…