आज़मगढ़ में लड़की ने नंबर देने से मना किया, तो उसे युवक ने आग लगा दी

साभार: विकिपीडिया

आजमगढ़ में एकतरफा प्यार में युवक ने गांव की ही एक दलित नाबालिग के घर में घुसकर उसे जिंदा जला दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने मौके से भाग रहे युवक को भी पकड़कर पीटा।
घायल किशोरी को सदर अस्पताल पहुंचाया गया। नाबालिग लगभग 95 फीसदी जल गई है। इससे उसे वाराणसी रेफर कर दिया गया है। साथ ही घायल युवक को भी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। मौके पर तनाव की स्थिति को देखते हुए कई थानों की फोर्स पहुंच गई है।
घटना निजामाबाद थाना क्षेत्र के फरिहां गांव की है। फरिहां के पश्चिम बस्ती में हरिलाल अपनी पत्नी और चार बेटियों के साथ रहते हैं। आज देर शाम घर के लोग बाहर थे। उनकी सबसे छोटी 16 साल की बेटी दीपा अचानक आग का गोला बनी चीखते हुए घर के बाहर निकली। पीछे से उसी गांव का शफी भी बदहवास हालत में बाहर निकला। तो मां ने शोर मचाया। ग्रामीणों ने युवक को पकड़कर उसकी जमकर धुनाई कर दी।
बताया जा रहा है कि युवक कई दिनों से किशोरी को परेशान कर रहा था। उससे मोबाइल नंबर मांग रहा था। किशोरी के नंबर नहीं देने पर मौका देखकर घर में घुस गया। उसका मोबाइल छीनने लगा। किशोरी ने विरोध किया तो उस पर तेल छिड़ककर आग लगा दी।