आॅरलैंडो हमलाः 50 की मौत, हमलावर का है ‘आईएस’ से सम्बंध

At Least 50 Dead In Mass Shooting At Gay Nightclub In Orlandoअमेरिका के ऑरलैंडो के समलैंगिक नाइटक्लब में 12 जून को हुई गोलीबारी में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई और 53 अन्य घायल हो गए। इस नरसंहार के बाद फ्लोरिडा में आपातकाल लागू हो गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसे आतंकी हमला बताया है।
कई समाचार संस्थानों ने फ्लोरिडा राज्य में स्थित इस क्लब में गोलीबारी करने वाले की पहचान 29 वर्षीय उमर मतीन के रूप में की है। वह फ्लोरिडा के फोर्ट पाएर्स का रहने वाला था। हमले के दौरान हमलावर मतीन ने पुलिस को फोन करके बताया कि उसका संबंध आतंकी संगठन से है।
पुलिस ने इसे आतंकवादी घटना बताया, लेकिन साथ में यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता कि यह घरेलू आतंकवाद की घटना है या अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद की। क्लब के अंदर मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने इसका अराजकता की स्थिति के रूप में उल्लेख किया। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, “पार्किंग में हर जगह शव ही शव थे। पुलिस लोगों को लाल और पीले रंग में टैग कर रही थी, ताकि यह पता करने में आसानी हो सके कि किसकी पहले मदद करनी है। पैंट नीचे थी, कमीजें बाहर निकली हुई थी। गोली कहां लगी है, इसका पता लगाया जा रहा था। हर जगह खून ही खून था।”

amerikaकौन है उमर मतीन?
29 साल का मतीन ऑरलैंडो के दक्षिण में सेंट लुसी काउंटी के फोर्ट पियर्स शहर का रहनेवाला था। वहां के एक नियमित कस्टमर जिम वान हॉर्न का दावा है कि 29 वर्षीय उमर मतीन को पल्स नाइट क्लब में ‘पुरुषों को अपनी ओर आकर्षित‘ करते देखा गया था।
यह भी पता चला है कि मतीन ने गे डेटिंग ऐप का इस्तेमाल किया था।
कुछ दिन पहले गे नाइटक्लब में अफगान मूल के अमरीकी नागरिक मतीन ने अंधाधुंध गोलीबारी की थी और हमलावर समेत क्लब में 50 लोग मारे गए थे।
मतीन के पिता मीर सादिक ने बताया कि मयामी में एक समलैंगिक जोड़े को चुंबन लेता देख हमलावर गुस्से में आ गया हो। उन्होंने अपने परिवार की तरफ से माफी मांगते हुए कहा कि सभी अमरीकियों की तरह वो भी इस घटना से सदमे में हैं।