आस्था के नाम पर ठगी

 

फ़ोटो2215
इसी चबूतरे पर बैठा था लड़का

 

फ़ोटो2213
पूजा के लिए खरीदा गया था सामना

जिला बांदा, ब्लाक विसण्डा, गांव पवइया। धर्म-आस्था के नाम पर आज भी हो रहे तमाशे।   गांव के एक लड़के ने दावा किया था कि वह पिछले जनम एक नाग था। इस जनम उसे आदेश मिला है कि वह नागिन से शादी करे। बताते चलें कि वह किसी आम नागिन की नहीं बल्कि इच्छाधारी नागिन की बात कर रहा था। उसका कहना था कि नागिन आएगी। देखते ही देखते वह औरत में बदल जाएगी। फिर वह उससे शादी करेगा। 1 अगस्त 2014 को नागपंचमी के दिन अरुण उर्फ अमर सिंह नाम के एक लड़के ने ऐसी घोषणा की। देखते ही देखते कानपुर, फतेहपुर, चित्रकूट और महोबा के लोग वहां आ जुटे। लोगों ने चढ़ावा भी चढ़ाया।
लड़के ने यह कहकर कि नागिन आएगी घंटों लोगों को रोके रखा। इसी बीच एक बार ऐसा भी हुआ कि नागिन के लिए उसने रास्ता छोड़ने को कहा। ऐसा सुनते ही लोग इधर उधर भागने लगे। इस भगदड़ में कई लोग चोटिल हुए। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने लड़के को गिरफ्तार कर लिया है। लड़का जेल में है। हालांकि लड़के के झूठसे बौखलाए लोगों ने लड़के की पिटाई भी की। लड़के की मां और उसके बाबा ने बताया कि हमें नहीं पता कि बात पूरे देश में कैसे फैली। हम तो कन्या खिलाने के लिए तैयारी कर रहे थे। चबूतरे की स्थापना करवा कर शंकर जी की मूर्ति बैठाने के लिए जौहरपुर के एक पंडित और एक भांट जो पुजारी का काम करता है उसने कहा था। उन्होंने अपने लिए कपड़े, बर्तन और पूजा का मंहगा सामान भी मंगवाया था। हालांकि अब दोनों लापता हैं।  बबेरू कोतवाली के मुंशी चतुरलाल ने बताया कि लड़के के खिलाफ धोखाधड़ी, धार्मिक भावनाओं को भड़काने और अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।