आसाराम किताबों में अब तक हैं संत

22-08-13 Desh Videsh - Asaramजोधपुर, राजस्थान। नाबालिग छात्रा के यौन शोषण के आरोप में जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद आसाराम बापू को नैतिक शिक्षा की किताबों में महान संत बताया गया है। यह मामला दो अगस्त को सामने आया।

आसाराम पिछले 23 महीने से जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं। एन.सी.ई.आर.टी. की तर्ज पर आधारित इस किताब में देश सेवा के लिए अमूल्य योगदान देने वाले महान संतों और महात्माओं के साथ आसाराम की तस्वीर भी प्रकाशित की गई है। यह किताब जोधपुर में तीसरी कक्षा के बच्चों को पढ़ाई जा रही है। दिल्ली के गुरुकुल एजुकेशन बुक्स की ओर से नैतिक शिक्षा और सामान्य ज्ञान विषय पर प्रकाशित ‘नया उजाला’ किताब के पेज नंबर-चालीस पर प्रसिद्ध संतों के फोटो प्रकाशित किए गए हैं।

प्रकाशक ने बारह महान संतों की सूची में आसाराम और योग गुरु रामदेव को भी शामिल किया है। तस्वीर के साथ उनका नाम आसाराम बापू लिखा गया है। राजस्थान के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने जांच के आदेश दिए हैं। इस संबंध में प्रकाशक राकेश अग्रवाल ने कहा कि किताब का यह संस्करण पांच साल पुराना है। जब यह संस्करण प्रकाशित हुआ तो उस समय आसाराम पर कोई मामला नहीं था। किताबों को बाजार से वापस लेने की प्रक्रिया चल रही है।