आवास तो मिले पर किश्तों का था इंतजार, महोबा जिले के लाडपुर गांव में देखें हमारी खबर का असर

महोबा जिले के जैतपुर ब्लाक के लाड़पुर गांव में राममनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना के तहत बने थे। आवास दूसरी क़िस्त के इंतजार में अधूरे पड़े थे। इसी कारण यहां के लोग अधूरे आवासों में पन्नी डालकर रहनें को मजबूर थे। कई बार दरखास देने के बाद भी दूसरी क़िस्त नहीं आ रहीं थी। खबर लहरिया में इस खबर को सितम्बर में दिखाया था। आज इस खबर का असर है कि लोगों को आवास की दूसरी  क़िस्त पन्द्रह दिन के अंदर मिल गई है इससें यहां के लोग बहुत खुश हैं।
करन सिंह ने बताया कि दूसरी क़िस्त का पैसा जल्दी नहीं आया था तो लोग पन्नी डाल कर अधूरे घर में रह रहे थे बरसात के महीनें में सारा सामान भीग जाता था। अब दूसरी क़िस्त का पैसा आ गया है तो लोग बहुत खुश हैं।
माया और रामबाई ने बताया कि खबर लहरिया में जब खबर निकली है तो पन्द्रह बीस हमारी दूसरी क़िस्त का पैसा आ गया है। जो लोग अधूरे घरों में रहते थे वो अपना घर बना कर रह सकेगें।
इस खबर की पहली रिपोर्टिंग देखने के लिए यहाँ  क्लिक करें…
रिपोर्टर-श्यामकली

Published on Dec 13, 2017