आलू की टिक्की खानी है? चलिए ललितपुर जिले ब्रज बिहारी के दुकान पर

जिला ललितपुर, गांव महरौनी। आलू की टिक्की का नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है। अगर आपके मुंह में भी पानी आ रहा हैं तो चलिये चलते हैं बृज बिहारी की दुकान में,जो बनाते है मजेदार, स्वाददार आलू की टिक्की।
बृज बिहारी का कहना है कि सुबह आठ बजे से दोपहर तीन बजे तक मेरी दुकान में आलू की टिक्की मिलती है। मेरी दुकान में दूर-दूर से ग्राहक आलू की टिक्की खाने आते हैं। बताशे का पानी बनाने में पांच लीटर सोंठ का पानी लगता है।फिर इस पानी में गरम मसाला और अमचुर का पानी डालते हैं।टिक्की के लिए आलू उबालते है है फिर आलू छीलकर टिक्की बनाते है।मटर को उबाल  कर उसमें मसाला मिलाते हैं।ग्राहकों को देते समय टिक्की तेल में तलकर मटर और मसाला डालकर देंते हैं।

बाईलाइन-राजकुमारी

29/09/2017 को प्रकाशित