आलू किसान का पाला कै डर

taza6 finalजिला अम्बेडकर नगर। बादल छाये रहै अउर कुहरा परै से किसानन के उम्मीद पै पाला भारी परै कै सम्भावना बाय। किसानन के मन मा आलू, मटर, सरसों, अउर अरहर जैसे खेती के नुकसान हुवय कै डर सतावै लाग बाय।
किसान सुनील, देवांष बताइन कि जिला मा लगभग पचास हेक्टेयर जमीन मा आलू, मटर सरसों जैसेन फसल कै खेती भै बाय। अक्टूबर महीना मा बुआई भै आलू जब बाढ़ जाथै तौ पाला परै पै लगभग चालिस प्रतिषत फसल नुकषान हुवय कै डर रहाथै।
रामनयन, पियूष बताइन कि बादल छाये रहै से आलू के फसल मा रोग लागै कै सम्भावना होइगै बाय। आलू कै पाती झुलसै लाग बाय। रोग पूरे खेत मा फैल जाये तौ काफी नुकसान होय जाये। अउर आलू न बाढ़े।
प्रभारी जिला उद्यान अधिकारी इसहाक अंसारी बताइन कि आलू का झुलसा रोग से बचावै के ताईं जैसे लक्षण देखाय परै तुरन्त मैकोजेब दवा ग्राम प्रति लीटर पानी के दर से मिलाय के छिड़काव करैं।
जिला कृषि अधिकारी डाॅक्टर सुभाष चन्द्र बताइन कि ई मौसम गेहूं के फसल खातिर जेतना अच्छा बाय। आलू मटर सरसों के ताई वतनै नुकसानदायक बाय।
किसान आलू मा मैकोजेब, मटर मा कार्बडाजिम अउर कापर आक्सीक्लोराइड दवा ठण्डी के मौसम मा पन्द्रह दिन के अन्दर मा छिड़काव करत रहैं। अरहर मा छिड़काव करै कै जरुरत नाय बाय। हल्की सिंचाई से बचाव होय जाये।   र