आबादी दुइ सौ, एकौ हैण्डपंप नहीं

chatrakkot paniजिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर,कस्बा रामनगर। हिंया के मड़ई कहिन कि दलित बस्ती के आबादी लगभग दुइ सौ हवै। यहिके बादौ बस्ती मा एकौ हैण्डपंप नहीं लाग हवै। हैण्डपंप लगवावैं खातिर मड़ई प्रधान राजकरन से कहिन,पै अबै तक हैण्डपंप नहीं लाग हवै।
बस्ती के राकेश, रानी अउर कलावती का कहब हवै कि सड़क पार कइके लगभग आधा किलो मीटर पियै खातिर पानी लें जइत हन। यहिसे डेर बना रहत हवै कि कत्तौ एक्सीडेंट न होइ जाये। पानी भरैं के चक्कर मा मनसवन का मजूरी करै अउर बच्चन का स्कूल जाये मा देरी होइ जात हवै। या बस्ती का बसे लगभग सत्तर साल होइगे हवै, पै अबै तक कउनौ प्रधान न तौ कउनौ बी.डी.ओ. हैण्डपंप लगवावैं खातिर नहीं सोचिस हवै। अगर हमार बस्ती मा हैण्डपंप लाग जाये तो हमार पानी के समस्या खतम होइ सकत हवै।
प्रधान राजकरन का कहब हवै कि हैण्डपंप लगवावैं खातिर ब्लाक मा बी.डी.ओ. चंद्रभान गुप्ता का लिखित दरखास दीने रहौ। उंई कहत रहैं कि अगर सरकार कइती से हैण्डपंप बस्ती मा लगवावैं खातिर पास होइ तौ लगवा दीन जई। अपने से कुछौ नहीं कीन जा सकत।