आप करें तो पुण्य, हम न भी करें तो जुर्म! देखिये बाँदा जिले के अनशनकारियों का विरोध प्रदर्शन

बांदा जिला मा 1 जनवरी से चलत अनशन 15 जनवरी का आमरण अनशन मा बदल गा है। अवैध खनन मा सीज किसानन के बैलगाड़ी वापस करै अउर पंडित जैन कालेज मा अवैध कब्जा का हटावै खातिर अनशन कीन जात हैं।
आर. टी. आई. कार्यकर्ता आशीष सागर का कहब है कि जबै हमार पांच मांग पूर होइहैं। तबै अनशन खतम कीन जई। अनशन खतम करै खातिर एडीएम धमकी देत है। नगर मंत्री ए.वी.बी.पी. शशांक सिंह का कहब है कि पंडित जैन कालेज के दलाली अउर भ्रष्टाचारी प्राचार्य नन्दलाल शुक्ला पूर कालेज के पट्टा करा के आपन सम्पति  बनाएं है। जबै हमार मांग लिखित रूप से पूर होइ, तबै हम अनशन खतम करबै। नहीं तौ लखनऊ मुख्यमंत्री के दरबार तक जइबै। तबै भी सुनवाई न होइ तौ सुप्रीम कोर्ट तक जइबै।
किसान का कहब है कि अवैध खनन बता के 23 दिसम्बर का हमार बैलगाड़ी कब्जा किये है। बैलन का मार-मार भगा दिहिन है तौ घर नहीं पहुंचे आहीं। शौचालय बनावे खातिर दुई-तीन बोरिया बालू लावत रहैं हन। पुलिस हमसे रुपिया मांगत है। समाज सेविका उषा निषाद का कहब है कि प्रधानमंत्री, डीएम स्वच्छ भारत अभियान चलावत है तौ किसान शौचालय खातिर बालू लइ जात रहै तौ बैलगाड़ी न सीज करा चाही। दस बैलगाड़ी सीज करिन हैं।

रिपोर्टर- गीता

Published on Jan 17, 2018