आधार प्रमाणीकरण

साभार:
आधारकार्ड.नेट

आधार प्रमाणीकरण के लिए चेहरा पहचान सुविधा की तारीक को अब अगस्त 1 निश्चित किया गया है। आधार-फिंगरप्रिंट और आईरिस स्कैन के लिए दो मौजूदा बॉयोमीट्रिक प्रमाणीकरणों के बारे में कई शिकायतों के बाद चेहरे की पहचान की आवश्यकता जरूरी बताई गई थी, और राष्ट्रीय पहचान प्रणाली के प्रभारी प्राधिकरण ने इस वर्ष की शुरुआत में घोषणा की थी कि इसमें आईरिस या फिंगरप्रिंट स्कैन के साथ उपयोगकर्ताओं को सत्यापित करने के साधनों के रूप में चेहरे की पहचान शामिल होगी।

लेकिन अब यू आई डी ए आई संस्था, जो आधार पर काम कर रही है, ने घोषणा की है कि यह प्रमाणित पंजीकृत उपकरणों में फेस प्रमाणीकरण को एकीकृत करने के लिए ‘बॉयोमीट्रिक डिवाइस’ प्रदाताओं के साथ काम करेगा और शायद इस पहलू के लिए एक ‘स्टैंडअलोन’ पंजीकृत मशीन भी प्रदान करेगा। साथ ही, यह सॉफ्टवेयर विकास किट (एसडीके) और उपकरणों को “चेहरे की छवि कैप्चर करने, आजीविका की जांच करने और डिजिटल हस्ताक्षरित और एन्क्रिप्टेड प्रमाणीकरण इनपुट बनाने” की क्षमता वाले उपकरणों को प्रदान करने के लिए काम करेगा। ये आवश्यक विवरण 1 मार्च तक जारी किए जाएंगे।

आपको बता दे की अब तक 121.17 करोड़ निवासियों को आधार के लिए नामांकित किया गया है। इसका उपयोग 19.6 अरब प्रमाणीकरण के लिए किया गया है।