आदमी गिलाव से निकरें खा मजबूर

m kasba se photoजिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, कस्बा पनवाड़ी, बस स्टैण्ड के पास। एते आठ साल पेहले सड़क बनी हती। जोन पानी भ्रें रहें के कारन गिलाव में बदल गई हे। आदमी गिलाव से निकरें खा मजबूर हे।
अशोक रानी, भोजराज ओर राॅकी यादव बताउत हे की ई मोहल्ला मे सौ मकान बने हे। पछांऊ प्राइवेट विवेका नन्द स्कूल बनो हे। जीमें दर्जन बच्चा पढ़न एतईं से जात हे। हमने प्रधान से कहके माटी डरवाई हती ओर निकरें खे सीमेंन्ट की बोरी धरे हे। अगर कोनऊ निकरें में तनकऊ चूक जात हे तो सीधे गिलाव में घुस जात हे। राजू नगायर्च बताउत हे की हमें एसी गली से निकरत सालन बीत गये। कोनऊ नईं सुनत हे, चुनाव में सब कछू देखत हे ऊखे बाद नेतन के पास आपने खर्चा से रुपइया नईं बचत हे। एते की सड़क खाली हे, जीसे पानी भरो रहत हे। ईखे बनवायें के लाने हमने केऊ दइयां अखबार में भी निकराओ हे। पे कोनऊ फायदा नइयां।
प्रधान आशराम कहत हे की कस्बा की एसी कोनऊ रास्ता न हो हे, जीखे बनवायें के लाने हमने प्रस्ताव लिख के न भेजो होय। अब प्रधानी मे इत्तो बजट नईं आउत हे। जीसे पूरी सड़के बनवाईं जा सके।