आत्मघाती हमले में चालीस बच्चों की मौत

नाईजिरिया। इस पश्चिमी अफ्रीकी देश में 10 नवंबर को एक स्कूल के प्रार्थनास्थल में आत्मघाती बम विस्फोट में सैंतालिस छात्र-छात्राएं मारे गए। पुलिस प्रवक्ता इमैनुएल ओजोकवो ने बताया कि आत्मघाती हमला करने वाला स्कूल की ड्रेस में था। सुबह सात बजकर पचास मिनट पर यह धमाका हुआ।
ओजोकवो ने बताया कि पुलिस को संदेह है कि यह हमला बोकोहरम नाम के आतंकवादी संगठन ने कराया है। पुलिस ने बताया हमारे पास अभी मज़बूत आधार नहीं है जिससे हम पक्के तौर पर कह सकें कि यह हमला बोकोहरम ने कराया है। लेकिन इसी साल फरवरी में यहां के योब राज्य के बुनी यदि इलाके के एक स्कूल में भी बोको हरम के बंदूकधारी आतंकियों ने चालीस छात्र-छात्राओं पर ताबड़तोड़ गोली चलाकर उनकी हत्या कर दी थी।

बोकोहरम नाईजिरिया के उत्तर पूर्वी इलाके में साल 2009 से सक्रिय है। ऐसे हमले करने के पीछे इस सगंठन का मकसद नाइजिरिया को इस्लामिक देश में बदलना है। 2009 से लेकर अब तक पांच हज़ार नागरिकों की हत्या कर चुका है। इसमें स्कूल छात्र छात्राएं भी शामिल हैं। पांच सौ से ज़्यादा औरतों और करीब तीन सौ स्कूली छात्राओं के अपहरण भी कर चुके हैं। पश्चिमी अफ्रीका में स्थित नाईजिरिया में मुख्य तौर पर मुस्लिम और इसाई रहते हैं।