आठवीं के बाद दसवीं तक हुआ शासकीय प्राथमिक शाला बनगाँय छतरपुर, बच्चों के खिले चेहरे