आखिर कबै खतम होइ बिजली कटौती

23 अक्टूबर का चित्रकूट जिला मा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी आय रहैं। अउर उंई आपन भाषण मा चित्रकूट का चौबिस घंटा बिजली दें के घोषणा करिस रहै।या घोषणा कउनौ नई बात नहीं रहै पै जनता का लागत रहै कि बिजली दें का कहत हवैं तौ अब तौ मिलबै करी? पै मुख्यमंत्री का घोषणा, घोषणा बन के रही गा हवै।
चित्रकूट मा आज भी बिजली कटौती से परेशान हवैं। मड़इन के खेत सिंचाई खातिर पड़े हवैं बिजली ना आवै से उंई खेतन के सिंचाई नहीं कई पावत या से खेत खाली पड़ी हवैं जउन खेतन मा फसल लाग हवै उंई सूखान जात हवै।का मुख्यमंत्री का आदेश का पालन भी प्रशासन नहीं करत आय या तौ घोषणा झूठ रहै? का कारन हवै बिजली कटौती करै का।
जिला प्रशासन या मामला मा कहत हवै कि शासन कइती से कटौती होय का आदेश हम का मिलत हवै तौ हम करित हन पता नहीं शासन प्रशासन जनता का काहे धोखा दें मा लाग हवैं? हर समय जनता का परेशानी उठावै  का परत हवैं? जबै वोट मांगै का होत हवै तब जनता देखात हवै पै बाद मा जनता का शासन प्रशासन अइसे देखत हवै जइसे कत्तौ देखिन  ना होय?आखिर कबै खतम होइ बिजली कटौती?