आई लव मुस्लिम लिख आत्महत्या  करने वाली लड़की का सुसाइड नोट आया सामने, मामले ने लिया नया मोड़

साभार: न्यूज़स्टेट

कर्नाटक के चिकमंगलूर में व्हाट्सएप चैट के दौरान ‘आई लव मुस्लिम’ लिखने पर बीजेपी नेता की मिली कथित धमकी के बाद धन्यश्री ने खुदकुशी कर ली थी। तहकीकात के दौरान मिले सुसाइड नोट से मामले ने नया मोड़ ले लिया है।
हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं के तानों से तंग आकर मौत को गले लगाने वाली धन्यश्री ने सुसाइड नोट लिखा था। इसमें उसने आरोपियों को संबोधित करते हुए लिखा था, ‘यदि आप जैसे हिंदू लड़के एक हिंदू लड़की के साथ नाइंसाफी करेंगे तो इंसाफ के लिए मैं कहां जाऊंगी? मैं किसी मुस्लिम लड़के से प्यार नहीं करती हूं और ही किसी मुस्लिम लड़के के साथ बाहर जाती हूं। आपने गैरजरूरी तरीके से उत्पीड़न कर मेरी छवि धूमिल की है। जो मेरे साथ हुआ है वैसा किसी दूसरी लड़की के साथ नहीं होना चाहिए।
बता दें कि इस मामले में भाजपा और भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता उसे परेशान करने लगे थे। आरोपियों द्वारा चेतावनी देने पर धन्यश्री ने व्हाट्सएप पर करारा जवाब दिया था। उसने लिखा था, ‘आप क्या करने में सक्षम हैं? इसको स्टेटस के तौर पर पोस्ट करने से मैं डरने वाली नहीं हूं। दफा हो जाओमुझे मुस्लिमों से प्यार है। मेरी जिंदगी मेरी पसंद है। आप क्यों परेशान हो रहे हैं? क्यों आप धर्म के नाम पर मरे जा रहे हैं, जबकि हम सब भारतीय हैं? आप जो कह रहे हैं उसकी मुझे बिल्कुल परवाह नहीं है। मेरे मातापिता हमेशा से मेरे समर्थन में हैं।
इसमें भाजपा कार्यकर्ताओं का शामिल होना भी सामने आया है। धन्यश्री ने उत्पीड़न से तंग आकर 6 जनवरी को आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने इस मामले में भाजयुमो नेता एमवी अनिल और एक अन्य व्यक्ति संतोष को गिरफ्तार किया है। संतोष ने खुद को बजरंग दल का कार्यकर्ता बताया था, लेकिन पुलिस सूत्रों की मानें तो वह भी भाजपा का सदस्य है।
चिकमंलूर से भाजपा विधायक सीटी रवि ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए भाजपा कार्यकर्ता अनिल का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि अनिल ने कोई अपराध नहीं किया है। वह बस धन्यश्री के परिवार को लव जिहाद के खतरों से आगह करने की कोशिश कर रहा था।