आइए मिलते हैं बांदा जिले के एक ऐसे कलाकार से जिनके हाथों में है कमाल का जादू

जिला बांदा,ब्लाक नरैनी। सीमेंट घर बनावें के काम आवत है का तुम कत्तौ सोंचे हौ कि सीमेंट से अउर भी सामान बन सकत है जइसे सीमेंट के जाली,गमला अउर मन्दिर। सीमेंट के सामान बनावत हैं नरैनी मा रहै वाले करीगर आओ जानित है कइसे बनावत है सीमेंट से सामान।
कारीगर नरेंद्र का कहब है कि चुन्ना करीगर से करीगरी सीखें हौं फेर तीन –चार मड़इन का करीगरी सिखायें हौं पै मड़ई सीमेंट का काम नहीं करें चाहत हैं काहे से पूरा दिन पूर सीमेंट मा रहे का पड़त है।बालू न मिले के कारन बेरोजगारी बढ़त जात है। पहिले हजार दुई के बिक्री होइ जात रहै पै अब तौ कत्तौ-कत्तौ बोहनी तक नहीं होत आय। गरीब मड़ई सीमेंट का सामान ज्यादा खरीदत हैं पूरे जिला से अउर मध्य प्रदेश तक से मड़ई हेंया सामान ख़रीदें आवत हैं।

बाईलाइन-गीता