इतिहास के पन्नो पलटते हुए चलिए चित्रकूट के शिव मंदिर में, जहां है कारीगरी, कलाकारी, और सुकून का एहसास

जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर|आपन समय मा चन्देल राजा बहुतै मन्दिर अउर किला बना इन रहै अउर बुंदेलखंड का नवा रूप दिहिन रहै  खजुराहों अउर कालिंजर किला दुइ बीघा मा  बनाइन हवै तौ बहुतै नीकं हवै|पैहिंया बना शिव मन्दिर अउर राजा परमाल का बनावा तालाब भी बहुतै नींक हवै|मन्दिर के दीवार मा नकली अउर पत्थर के मूर्ति बनी हवै|फूलचन्द्र शुक्ला का कहब हवै कि राजन के लगे बहुतै सम्पति होत रहै तौ मन्दिर या किला बनवात रहै जेहिसे उनकर नाम होय| औरंगजेब जबै राजा रहै तौ 17 बार लड़ाई करिस रहै अउर मन्दिर का तोड़िस रहै|आकाश बताइस कि शिवमन्दिर मा भगवान राम एक रात रुके रहै|तालाब मा तीर मारिस रहै यहै कारन तीन सौ साल पुरान तालाब कत्तौ नहीं सुखात आय|
पुरातत्व  विभाग के इंदु प्रकाश का खब हवै कि शिवमन्दिर बिलकुल खराब हालत मा रहा हवै हुंवा जउन अवशेष रहै वहिके आधार मा मन्दिर बनवावा गा हवै|

बाईलाइन-सुनीता देवी

15/09/2017 को प्रकाशित