आंगनबाड़ी वालिन तायि कउनौ व्यवस्था नाय

taza fainal6जिला फैजाबाद, ब्लाक मयां, मया क्षेत्र । एक सौ अट्ठावन आंगनबाड़ी बाटै पैतिस मिनी आंगनबाड़ी अउर एक सौ वनसठ सहायिका, यकै संचालन करै तायि छह सुपर वाइजर हइन। तबौ समय कै पैसा नाय मिलत तौ गेदाहरन का कहां से भोजन, लइया, चना  मंगावै।
सुनीता सिंह, शिवकुमारी, किरन सहायिका बताइन कि हमरे सब एकदम से ऊब गै हई। ऊपर से आर्डर आय जाथै कि बच्चन कै खाना केन्द्र पै बने। अउर सबकै सब बच्चै खाय लकिन न बर्तन न ईधन अउर न गैस तौ हम सब कै खाना कैसे बनाई दुई महीना पैसा आये दस महीना बन्द रहे बहू मा हर महीना जांच मा कुछ पैसा काटाथिन। लगभग छह सात महीना कै हाडकुक कै पैसा बन्द बाय। अबहीं अगस्त महीना मा कहूं-कहूं आंगनबाड़ी केन्द्र पै दुई महीना कै पैसा आय बाय। तौ हम सब कब कै मानली पिछले या नया कवन वाला हुअय। यही समय कड़ाई करत हईन कुछ कमीशन दियै नाहीं तौ निकारै कै धमकी दियाथिन।
सी.डी.पी.ओ सरोजनी जोशी बताइन तीन केन्द्र का अलनाभारी, पसौरा अउर एक केंद्र कै पैसा अबहीं नाय आय बाय। उहौ फारम मा कुछ कमी रहा जल्दी ही उहौ आय जाये अउर सब आंगनबाड़ी पै अगस्त, सितम्बर कै यम.डी.एम. कै पैसा आय गै बाय। खाली जुलाई कै बाकी बाय मांग भै बाय जैसे आए दै दीन जाए।