आंख के मरीजन कै साथे होत खिलवाड़

taza2 finalजिला फैजाबाद अउर अम्बेडकर नगर हिंआ गाँव – गाँव मा आंख कै मरीज इलाज खातिर यहरी वहरी भटक हईन। सरकार यकर सुबिधा नजदीकी अस्पताल मा काहे नाय करत बाय? जइसै एक समाज सेवी स्ंास्था आंख परीक्षण करत बाय। सरकार यईसन काम काहे नाय करत बाय? जेसे मरीजन का यहरी वहरी भटकै का न परै।
जइसै कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कटेहरी मा मोतियाबिन्द कै आपरेष्न हुअत रहा आंख परिक्षण कै कैम्प भी लागत रहा। ऐसे सैकडों मनईन का फैयदा होत रहा लकिन दुई साल से मोतियाबिन्द आपरेष्न कै मषीन बसखारी भेज दिया गै बाय। जहां देखा जाए तौ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रन पै मोतिया बिन्द आपरेषन कै मषीन नाय बाय। ऐसे आंख के मरीजन का यहरी-वहरी भटकै का परत रहा। यकर सुबिधा सरकार काहे नाय करत बाय? लकिन अस्पताल तक पहुंच नाय पावत हईन। उनके लिए गाँव मा कैम्प लगाई के मरीजन कै आंख परिक्षण किया जाये का चाही। सरकार आंख कै परिक्षण गांव मा काहे नाय करत बाय यकर जिम्मेदार आखिर के बाय? जैसे पोलियो बूथ बाल पोषण माह जैसे कइयौ स्वास्थ्य के मुददा पै सरकार काम करत बाय। लकिन फिल्ड मा आंख परिक्षण कै काम नाय करत हईन। जेरके मोतियाबिन्द भै रहै वोकर फीरी मा आपरेषन काहे नाय होत? ई सब सुविधा सरकार काहे नाय करत बाय? देखा जाए तौ आंख कै मरीज बहुत ज्यादा हईन लकिन सरकार के तरफ से आंख के मरीजन कै कउनौ विषेष सुविधा काहे नाय किया गै बाय।