अहमदाबाद बना भारत का पहला विश्व विरासत वाला शहर

साभार: विकिमीडिया कॉमन्स

अहमदाबाद शहर को वर्ल्ड हेरिटेज सिटी(विश्व विरासत वाला शहर) घोषित किया गया है। यह पहली बार है जब भारत के किसी शहर को वैश्विक धरोहर वाले शहर की श्रेणी में स्थान मिला है। यूनेस्को के इस फैसले को 20 देशों का समर्थन मिला है।

पोलैंड के क्राको शहर में आयोजित यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज समिति की 41वीं बैठक में अहमदाबाद वर्ल्ड हेरिटेज सिटी घोषित किया गया।

अहमदाबाद शहर में हिन्दू, मुस्लिम और जैन समुदाय के लोग मिलजुलकर रहते हैं और अनेक सुंदर ऐतिहासिक शिल्पकला अहमदाबाद में है। इसी वजह से यूनेस्को ने वैश्विक धरोहर के तौर अहमदाबाद का चयन किया है। यूनेस्को ने अपने घोषणा पत्र में कहा है कि 15वीं शताब्दी में सुलतान अहमद शाह द्वारा बसाए गए शहर अहमदाबाद साबरमती नदी के पूर्व में स्थित है।

अहमदाबाद में आर्किटेक्ट के सुंदर उदाहरण हैं। जैसे भद्र का किला, किले की दीवार और गेट, के अलावा शहर स्थित, राणी का हजीरा, सरखेज का रोजा, सीदी सैयद की जाली, एलिसब्रिज, शहर की पोल, अनेक मस्जिदें और मकबरा, हिन्दू और जैन मंदिर इत्यादि हैं।

अहमदाबाद भारत का 606 साल पुराना शहर है। यूनेस्को की ओर से घोषित किए जाने के बाद हेरिटेज सिटी को मिलने वाले सभी लाभ अहमदाबाद को मिलेंगे।