अलखपुरा गांव की फुटबॉल महिला खिलाड़ी टीम हुई विश्व विख्यात

साभार: आल इंडिया फुटबॉल फेडेरेशन

भिवानी जिले के बवानीखेड़ा गांव का अलखपुरा महिला फुटबाल के क्षेत्र में चर्चित हो चुका है। भारत सहित दुनियाभर में जब भी खेलों का जिक्र होता है तब भारत के मिनी क्यूबा के नाम से मशहूर भिवानी जिले का नाम जरूर आता है। हरियाणा के भिवानी जिले के अलखपुरा गांव के द्वितीयक विद्यालय में 2006 में खेल के अध्यापक गोवर्धन दास आए। उनकी ख्याति कबड्डी और खो-खो के अच्छे कोच के रूप में थी। उन्होंने अलखपुरा में भी फुटबॉल टीम बनाने की पहल की।
जब लड़कियों ने खेल में दिलचस्पी दिखाई तो दास भी उनके साथ काम पर लग गए। 2008 के मैच में लड़कियां एक टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंच गईं। सरकारी स्कूल की सफलता को देखते हुए बच्चे दाखिला लेने लगे और देखते-देखते 60 से 600 बच्चे हो गए! सिलसिला यूँही चलता रहा और अलखपुरा की टीम ने राष्ट्रिय स्तर का खिताब जीता। अपनी लड़कियों की सफलता को देखते हुए अलखपुरा गांव ने 50 लाख रुपये जुटाकर यहाँ स्टेडियम भी बनवाया।