अम्बेडकरनगर जिले के सोनवां गाँव के डिलीवरी केंद्र पर नहीं होती डिलीवरी

जिला अम्बेडकरनगर, ब्लाक भीटी, गाँव सोनावां बहती कै प्राथमिक उप स्वास्थय केन्द्र डिलेवरी केंद्र घोषित बाय लकिन ऐ.एन. एम वहीँ नाय बैठती। जबकि रहै के ताई आवास भी बना बाय।पहले कुछ दिन ऐ.एन. एम रहत रहिन फिर आउब बंद कै दिहिन। अब जनता का पन्द्रह किलोमीटर दूर भीटी या कटेहरी जाय का पराथै। मनइन कै कहब बाय की उपकेन्द्र गाँव से सटा बाय तबौ नाय रहती।
बहती गाँव के नेहा अउर रेखा कै कहब बाय की रोज उपकेन्द्र पै नाय रहती फोन कइके बुलावै का पराथै। तारा कै कहब बाय की दिन मा टीकाकरण के दिन आवाथिन। दवा भी दियाथिन। लकिन इहै एक समस्या बाय की रात मा नाय रहती तौ रात विरात अगर हालत ख़राब हुवय तौ प्राइवेट अस्पताल या फिर लगभग पन्द्रह किलोमीटर भीटी लै जाय का पराथै।अगर रात मा ऐनम रहती तौ यतनी समस्या न हुवत।
इंद्र प्रताप पांडेय सोनावां कै कहब बाय कि एहि गाँव मा एक हजार के आबादी बाय तबौ ऐ.एन. एम केंद्र पे नाय बैठती। दुई साल से इनकै न्युक्ति केंद्र पै बाय। जिनके घर कै मनई बीमार हुवय उनका जाय के लावाथे। फिर डिलेवरी करावाथिन।
करोरा देवी कै कहब बाय कि ऐ.एन. एम गोशाईगंज मा कमरा लइके रहाथिन। लकिन यतनी बात बाय की तुरंत फोन करे पै आय जाथिन जेसे कउनौ दिक्कत नाय हुवत।
ऐ.एन. एम सरिता कै कहब बाय कि हमका रात मा अज्ञात मनई द्वारा डराय धमकाय जाथै कि हमरे अन्डर मा रहिके काम करा। दुई तीन बार पत्थर बाजी भी हमरे ऊपर भए। एही से हम हियां नाय रहै चाहित। अगर कउनौ घटना होय जाये तौ के जिम्मेदार होये।येही बात कै अधीक्षक का मौखिक जानकारी दै देहे हई।
अधीक्षक हनुमान प्रसाद कै कहब बाय की उपस्वास्थ केंद्र मा रुकै कै पूरी व्यवस्था बाय। ई कहत रहीं कबहू कबहू आसामाजिक तत्व आवाथिन तौ काव करी सौ नंबर डायल करै के सलाह देहे रहेन।

रिपोर्टर- संगीता

11/05/2017 को प्रकाशित