अमेरिकी स्कूल में हुई गोलीबारी

(फोटो साभार: विकिपीडिया)
(फोटो साभार: विकिपीडिया)

कनेक्टिकट, अमेरिका। अमेरिका के कनेक्टिकट राज्य के न्यूटाउन शहर के एक प्राथमिक स्कूलमें 14 दिसंबर 2012 कोभारी गोलीबारी में अट्ठाइस लोगों की मौत हो गयी जिसमें छह से सात साल के बीस बच्चे भीशामिल थे। पुलिस के पहुंचने पर गोलीबारी करने वाले बीस साल के एडम लांजा ने खुद को गोली मार के आत्महत्या करली।

14 दिसंबर को सुबह साढ़े नौ बजे के आसपास एडम जबरदस्ती स्कूल में घुसा और अंधाधुंध गोली चलाने लगा। रास्ते में आई स्कूल की प्रधानाध्यापिका और एक टीचर की मौत सबसे पहले हुई। उसके बाद एडम ने बच्चों पर भी गोली चलाई और बीस बच्चे मारे गए। स्कूल की कुछ अध्यापिकाओं ने अपने छात्रों को छुपाया और कमरों में बंद कर लिया जिसकी वजह से बहुत से बच्चों की जान बच गई। जांच करने पर पता चला कि 14 दिसंबर की सुबह घर से निकलने के पहले उसने अपनी मां को भी गोली मारकर मार दिया था।

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने घटना पर शोक जताया। जनता से बात करते हुए उनकी आंखों में भी आंसू थे। इस घटना ने देष को हिलाकर रख दिया है। अमेरिका में स्कूल और कालेजों में पहले भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि देष में बन्दूक प्राप्त करने के कानून में और सख्ती लाई जायेगी जिससे कि ऐसी घटनाओं पर रोक लगाई जा सके।