अमृत है नीम

नीम का पेड़ न केवल छाया देता है बल्कि कई तरह की बीमारियों के इलाज मेंभी काम आता है।
नीम ठंडक देने के साथ खून को साफ करता है। खांसी, बुखार के लिए तो यह बहुत फायदेमंद है। सबसे ज्यादा फायदा तो खून और त्वचा के रोगों में होता है। शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता को भी ये बढ़ाता है।
कैसे खाएं और कैसे लगाएं-नई पत्तियां जिन्हें कोपल कहते हैं, इन्हें सुबह-सुबह बिना कुछ खाए पिए खाया जा सकता है। ये कड़वी भी नहीं होती हैं। इसके तेल की मालिस गठिया और लकवा में फायदेमंद होती है।
बुखार के लिए खास काड़ा- 250 ग्राम पानी, तुलसी के दस पत्ते, काली मिर्च, तीन दाने, अदरक नीम की पांच पत्ती प्रयोग में लार्ठी जाती है। सबसे पहले काली मिर्च व अदरक को पीसकर 250 ग्राम पानी में डालकर अच्छी तरह उबाल ले। पानी आधा रहने पर उसको छानकर गरम-गरम पीये। इससे खासी बुखार गले की खरास सिर दर्द ठीक होता है।