झाँसी जिले के उल्दन गाँव की सिवी 3 दिसम्बर से लापता

जिला झांसी, गांव उल्दन आज भी मोड़ीयन को ही सब परेशानी देखने पर रइ फिर बे चाह गांव में हो या शहर में। छेरखानी, अपहरण, दहेज प्रथा जेसी परेशानीयन से सामनो करने परत। आखिर कब तक झेलने परे जे परेशानी।
एसी ही परेशानी की शिकार बनी सीवी। उल्दन गांव की रेबे वाली सीवी को 3 दिसम्बर को अपहरण हो गओ तो लेकिन अबे तक कछु पतो नइ चलो घर वालिन ने गांव के ही रवि पे आरोप लगाओ। परिवार वाले पिछले 3 दिसम्बर से पुलिस और डी एम के चक्कर ही लगा रए लेकिन पुलिस केश की जांच में ही लगी।
सुनीता परिहार मताई ने बताई के सवा महीना हो गओ हमाई सीवी को अपहरण भए लेकिन अबे तक कछू पतो नइ पर रओ। हमने उल्दन थाने में रिपोर्ट करवाई और दो बार कप्तान सर के पास भी गये। हमाई मोड़ी को उल्दन से ले गये हम और हमाई मोड़ी दोई जने शौच करबे गए ते बाहर सो रास्ता मे गाड़ी में खेच लओ जबरजस्ती मारूति बेन में पप्पू और रवि ने हमने रवि को पहचान लओ तो। हमाय मायके के हे दोई जने और न हमाई कोनऊ दुश्मनी हती उन ओरन से।
अम्बिका प्रसाद बाप ने बताई के हमने पकड़ा भी दए ते आरोपी लेकिन उन ने छोड़ दए रुपईया लेके। अबे तक कछू पतो नइ चलो बतात ही नइया कछू डी एम के पास गये ते सो उन ने आश्वाशन दओ के मिल जेहे। एस पी, डी टी पी, एस डी एम, सब के पास गये सबको कागज जमा करे लेकिन कोऊ ने नइ पकड़ो नोयडा में पकड़ो भी तो पुलिस ने छोड़ दओ।

रिपोर्टर- सफीना और सोनी

Published on Jan 18, 2017