अप्रवासी भारतीय से तलाक की स्थिति में महिला होगी अभिभावक

साभार: विकीपीडिया

अप्रवासी भारतीय से शादी करने वाली महिलाओं और उनके बच्चों को होने वाली परेशानियों को हल करने के लिए सरकार नियम बनाने की सोच रही है। इसके लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने देशभर से सुझाव मांगे थे। हालांकि विभिन्न संस्थाओं और एनजीओ की ओर से सुझाव मिला कि अप्रवासी भारतीय पति से झगड़े की स्थिति में बच्चे की मां को उसका अभिभावक माना जाए।
सुझावों में विदेशी दूतावासों में अलग से एक सैल बनाने का सुझाव भी दिया गया है, ताकि पीडित महिला सही जगह से मदद ले सके। इसके साथ ही गांवों में भी अप्रवासी भारतीय लड़के से शादी हो रही है, तो उसकी जानकारियां देने की मांग की गई है।