अपन गलती के करू ऐहसास

800px-Orissa_village_school_children
ऐसे पढई छई बच्चा

जिला सीतामढ़ी के राजकीय मध्यविद्यालय बथनाहा में 1 जुलाई 2013 के अढ़ाई बजे दिन में करेन्ट लोग से तीन गो विद्यार्थी घायल हो गेलई। जेकर इलाज चल रहल हई।
इहां के गीता देवी, प्रमोद कुमार कहलथिन कि बच्चा त जानिये के बदमाश होई छई। लेकिन ध्यान त गार्जियन के देवेके पड़ई छई। घर में रहई छई त माय बाप ध्यान देई छथिन, लेकिन विद्यालय में रहई छई त शिक्षक के रहई छई। यदि इ लोग बच्चा पर ध्यान न देथिन त घटना त होयबे करतई। प्रधानाध्यापक के प्रभार के शिक्षक कौशल चैधरी अउर सहायक शिक्षक कत्यनरायण महतो कहलथिन कि ऐई विद्यालय में बच्चा के नमांकन चैदह सौ हई अउर उपस्थिति बारह सौ रहइ छई। इहां दसगो शिक्षक हई।

विद्यालय के चारो तरफ से बाडन्ड्रीबाल अउर गेट में ग्रील रहतिअई त शायद इ घटना न होइतिअई। चार दिवारी के लेल बजट पास हो गेल हई, लेकिन ओतना में न बनतई। ऐई के लेल काम न हो रहल हई। विद्यालय से सटल जामुन के पेड़ हई, जेई पर उ बच्चा जामुन तोड़े गेल रहई। उ पेड़ शायद ग्यारह हजार वोल्ड वाला तार से सटइत रहई जेई कारण चार गो बच्चा के करेंट लग गेलई। ओई में दुगो बच्चा के उपस्थिति बनल हई अउर दुगो के न बनल हई। इ बच्चा सबके इलाज प्राइवेट अस्पताल में चल रहल हई। एगो के पटना के लेल रेफर कर देल गेल हई।
प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी रामायण हाजरे अउर जिला शिक्षा पदाधिकारी सहजा नन्द कहलथिन कि लिखित जानकारी हमरा न मिलल हय। लेकिन मौखिक मिलल हय। अई में शिक्षक बच्चा दुनु के गलती हई।