अपन अधिकार के दिन मनायल गेलई

mahila sitamarhiजिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड डुमरा महिला शिक्षण केन्द्र में 8 मार्च 2013 के अन्तराष्टीय महिला दिवस मनायल गेलई। इ कार्यक्रम रीगा, बथनाहा, परिहार में भी मनायल गेलई। जेई में जिला के महिला समाख्या कार्यकता अउर फेडरेशन सचिव भी उपस्थिति रहथिन। गांव-गांव के महिला समूह भी भाग लेलथिन।
महिला शिक्षण केन्द्र के कृष्णा देवी, मालती देवी, विमला देवी, रागनी देवी सब कहलथिन कि आई हमरा सब के अधिकार के दिन हई। नारा लगवते सब महिला रैली निकाललथिन।
महिला समाख्या के अधिकारी जिला कार्यकम समन्वयक अल्पना कुमारी कहलथिन कि महिला दिवस के अवसर पर विभिन्न जगह पर कार्यक्रम मनायल गेलई। उ महिला के अधिकार अउर कतव्य के बारे में बतलथिन। उ कहलथिन कि जब तक महिला जागरुक न होइथिन तब तक कुछ न हो सकइ छई। महिला के उपर हो रहल अत्याचार दिन प्रतिदिन बढ़ले जाई छई। देश में महिला के सुरक्षा के लेल बहुत कानुन बनलई। लेकिन सही ठंग से काम न होय के कारण महिला असुरक्षित हि रह गेलई। जब तक उ खुद सशक्त न होईथिन तब तक कुछ न हो सकई छई, कयला कि नारी के सहयोग बिना हर काम अधुरा हई।