अपनी रोज़ी रोटी के लिए निकले क्या मालूम था अपनी औलाद को खो देंगे

गरीबी अउर बेरोजगारी मड़ई का मजबूर कर देते हवै परदेश जाये का, मड़ई आपन घर-दुवार छोड़ के रोटी के तलाश मा परदेश निकल जात हवै|
जहानाबाद के कमलेश भी मजदूरी के तलाश मा चित्रकूट आवा हवै|पै वहिका का पता कि वहिकर सात साल के  लड़का के सड़क मउत होइ गे|
मृतक के पिता कमलेश बताइस कि मोर लड़का सड़क से निकलत रहै तौ कर्वी कइत से ट्रक आवा तौ ट्रक वाला  मोर लड़का के ऊपर ट्रक चढ़ा दिहिस तौ मोर लड़का के मउत होइ गे|
मृतक के चाचा का लड़का रंधीर बताइस कि हम बिहार जहानाबाद के रहें वाले आही हिंया मजदूरी करें आये हन|
या कउनौ एक घटना न होय हिंया कइयौ दरकी घटना होइ चुकी हवै|
अवधेश कुमार मिश्र बताइस कि हिंया 7-8 दरकी घटना होइ चुकी हवै ब्रेकर न होय से रोज घटना होत हवै|ट्रक समेत चालक का पुलिस पकड़ लइ गे हवै|भले सरकार कमलेश के लड़का का नहीं लउटा सकत तौ इनतान के घटना का तौ रोक सकत हवै|

बाईलाइन-सहोद्रा 

15/09/2017 को प्रकाशित