‘अपना घर का सपना’ जो छतरपुर जिले के हमां गांव में सपना ही है

प्रधानमंत्री आवास योजना में अपने घर का सपना पूरा करने वाली इस योजना के तहत छतरपुर जिले के हमां गांव के लोगों ने फार्म तो भरे, लेकिन एक साल बीतनें के बाद भी लोगों का सपना, सपना ही बना हुआ हैं।
केसर का कहना है कि आवास योजना के लिए पिछले साल फार्म भरे थे। हमें नहीं पता कि हमारे आवास क्यों नहीं आये हैं। रानी ने बताया कि इस मुहल्ले में किसी के आवास नहीं आये हैं। दिनेश यादव ने कहा कि कच्चे घरों में बहुत परेशानी होती है। बरसात में सब जगह पानी भरा रहता है, कहीं बैठनें की जगह नहीं रहती है और न जानवरों को बांधने के लिए जगह रहती हैं। पप्पू का कहना है कि पता नहीं कैसा नियम है, किसी को आवास मिले हैं, किसी को नहीं मिले हैं। अखिलेश का कहना है कि सरपंच आश्वासन बस देते हैं। सरपंच रानी रावत का कहना है कि हो सकता है कि लोगों के आवास का पैसा अभी न आया हो।
ब्लाक काडिनेटर मनमूरत मिश्रा का कहना है कि 2011 के सर्वे के आधार पर जो पात्र थे, सब को आवास दे दिए गये हैं। जो पात्र लोग छूट गये हैं, उनका भी नाम जोड़ा गया हैं।

रिपोर्टर- अलीमा तरन्नुम

Published on Feb 23, 2018