अन्तरिक्ष को छूने वाली सुनीता विलियम्स को जानिए

फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमन्स 

अमेरिका में पली-बढ़ी भारतीय मूल की सुनीता विलियम्स का आज जन्मदिन है, सुनीता भारत मूल कि पहली ऐसी अन्तरिक्ष यात्री हैं, जिन्होंने सबसे ज्यादा दिन अन्तरिक्ष में बिताये हैं

सुनीता विलियम्स का जन्म 19 सितम्बर 1965 को अमेरिका के ओहियो राज्य में हुआ था, सुनीता मूल रूप से भारत के गुजरात राज्य के अहमदाबाद शहर से सम्बन्ध रखती हैं। सुनीता ने ग्रेजुएशन फिजिकल साईंस से की हैं, उसके बाद इंजीनियरिंग मैनेजमेंट में एम.एस. की डिग्री ली हैं।

सुनीता का चयन नासा में जून 1988 में हुआ था जिसके बाद उनका प्रशिक्षण शुरू हुआ।
सुनीता विलियम्स ने अंतरिक्ष में 321 दिन 17 घंटे 15 मिनट का समय व्यतीत किया है। ऐसा करने वाली वो भारत की पहली और विश्व की दूसरी सदस्य हैं।

सुनीता विलियम्स अपने पहले अंतरिक्ष दौरे में अपने साथ धार्मिक ग्रंथ गीता भी लेकर जा चुकी हैं जबकि अपने दूसरे अंतरिक्ष दौरे में अपने साथ गणेश की मूर्ति लेकर गई थी, इसके बारे में पूछने पर सुनीता ने बताया कि मैं बहुत धार्मिक हूँ। मुझे लगता है कि गणेश मेरे लिए लकी हैं।

एक बार बातचीत करते हुए सुनीता ने बताया कि वो अन्तरिक्ष से अपने पति से लगातार बात कर रही थी। उन्होंने बताया कि वो अपने कुत्ते को भी बहुत याद करती थी। जब उनसे पूछा गया कि वो अंतरिक्ष में किसे ले जाना ज्यादा पसंद करेंगी, अपने पति को या कुत्ते को? सुनीता ने बताया कि अगर मैं कुत्ते को ले गई तो वहां उसकी उम्र घटेगी इसलिए उसे नहीं ले जाउंगी और अगर पति को ले गई तो हमारी वहीँ बहस हो जाएगी, इसलिए अभी मैं इसके बारे में सोची नहीं हूँ।
सुनीता विलियम्स को 2008 में भारत सरकार ने विज्ञान एवं अभियान्त्रिकी के क्षेत्र योगदान के लिए में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। इसके अलावा उन्हें नेवी कमेंडेशन मेडल, नेवी एंड मैरीन कॉर्प एचीवमेंट मेडल ह्यूमैनिटेरियन सर्विस मेडल जैसे कई सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है।