अनोखा है ‘अंडर द ब्रिज स्कूल’….

unnamed-3wwमिलिए हमारे देश के एक ऐसे नायक राजेश कुमार शर्मा से जो दिल्ली के यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन के पुल के नीचे पिछले 10 सालों से बिल्कुल निस्वार्थ शिक्षा का अलख जगा रहे हैं। राजेश आर्थिक रूप से कमज़ोर और पिछड़े तबके के करीब 270 बच्चों के सपने में हर जान भरते हैं। ना आलिशान इमारत, ना कोई तामझाम, पुल की छत, एक दीवार पर बना ब्लैकबोर्ड, एक दूसरे की प्रेरणा बने बच्चे, मुस्कुराते चेहरे और एक शख्स जो बदल देना चाहता है इनके जीवन की तस्वीर ये सब मिलकर बनता है ‘अंडर द ब्रिज स्कूल’।

साभार:यूथ की आवाज